हिंदी चिट्ठाजगत में कुछ ऐसे चिट्ठाकार हैं जिनके तेवर का अंदाजा उन्हें गहराई से पढ़े और महसूस किये बगैर नहीं लगा सकते ....जो अपने मस्तिस्क की आग को समूची दुनिया के हृदय तक पहुंचाने को बेताब है और पूरी दुनिया की क्रान्तिधारा को आप तक पहुंचाने को तत्पर ।
किसी को कविता में महारत हासिल है तो किसी को कहानी या फिर संस्मरण में .....कोई आलेख तो कोई शब्दों की श्रृंखला बनाता है .....कोई करता है उद्घोष अपनी राष्ट्रभाषा का तो कोई जूनून की हद तक जाकर करता है सृजन कर्म ....कोई गीत रचता है तो कोई ग़ज़ल ....सबकी अपनी -अपनी अलग विशेषता है । सभी अपने फन में माहिर है सभी श्रेष्ठ हैं ......हम इन्हीं श्रेष्ठ सृजनकारों से आपको रूबरू कराने जा रहे हैं १२ जुलाई से प्रत्येक दिन परिकल्पना और ब्लोगोत्सव-२०१० पर प्रात: ११ बजे और अपराह्न ३ बजे .........देखना न भूलें !

9 comments:

संगीता पुरी ने कहा… 9 जुलाई 2010 को 5:52 pm

शुभकामनाएं !!

Udan Tashtari ने कहा… 9 जुलाई 2010 को 6:25 pm

इन्तजार जारी है.

vandan gupta ने कहा… 9 जुलाई 2010 को 6:38 pm

hamein bhi intzar hai.

निर्मला कपिला ने कहा… 9 जुलाई 2010 को 6:48 pm

बेसब्री से इन्तजार कर रहे हैं। शुभकामनायें

Unknown ने कहा… 9 जुलाई 2010 को 8:00 pm

achhi shrinkhla kaa intezaar

विवेक रस्तोगी ने कहा… 9 जुलाई 2010 को 8:53 pm

इंतजार लगा रखा है :)

वाणी गीत ने कहा… 10 जुलाई 2010 को 8:06 am

इन्तजार रहेगा ...
शुभकामनायें ...!

दिगंबर नासवा ने कहा… 10 जुलाई 2010 को 7:16 pm

Prateeksha rahegi ... bahut baut shubh-kaamnaayen ...

दिगंबर नासवा ने कहा… 10 जुलाई 2010 को 7:16 pm

Prateeksha rahegi ... bahut baut shubh-kaamnaayen ...

 
Top